Monday, 8 November 2010

26/11 भुलाया नहीं जा सकता-ओबामा

अपनी पहली भारत यात्रा पर पहुँचे अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने शनिवाो कहा कि मुंबई में हुए आतंकवादी हमले को कभी भुलाया जा सकता। उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका आतंकवाद के खिलाफ एकजुट हैं।

होटल ताज में अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि हमले के समय सारी दुनिया ने भारत की बहादुरी देखी। भारत के लोगों ने उस समय काफी सूझबूझ, साहस और संयम का परिचय दिया था, जो कि सराहनीय है। ओबामा ने कहा कि इस हमले में कई अमेरिकी नागरिकों ने भी जान गँवाई थी। 

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि जो निर्दोष लोगों की हत्या करते हैं, वे सिर्फ मौत बाँटते हैं। उन्होंने कहा कि मुंबई जलते होटल को कभी नहीं भुलाया जा सकता। गेस्ट बुक में अपने विचार लिखते हुए ओबामा ने कहा कि 26/11 को एक हादसे के लिए बल्कि साहस के लिए याद रखा जाएगा।

ओबामा ने कहा कि भारत में मुंबई ऐसी जगह है, जहाँ पूरी दुनिया के लोग मिलते हैं। एक तरह मुंबई पूरे भारत को परिभाषित करता है। इस अवसर पर ओबामा ने 26/11 के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की साथ ही उस हमले में बचे लोगों से भी मुलाकात की। इस अवसर र उद्‍योगपति रतन टाटा, महाराष्ट्र उपमुख्‍यमंत्री छगन भुजबल ी मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment