Monday, 8 November 2010

भारत-अमेरिका संबंध विश्व के लिए अहम

हिंदुस्तान सामाचार के अनुसार
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और भारत की आधिकारिक यात्रा पर आए अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने नई दिल्ली में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि दोनों देशों के सम्बंध पूरे विश्व के लिए महत्वपूर्ण और निर्णायक हैं।
हैदराबाद हाउस में दोनों नेताओं की बैठक और शिष्टमंडल स्तर की बैठक के बाद संयुक्त संवाददाता सम्मेलन का आगाज करते हुए मनमोहन सिंह ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ व्यापार, स्वास्थ्य, कृषि, स्वच्छ ऊर्जा सहित अनेक मसलों पर बातचीत की। उन्होंने अमेरिका द्वारा रक्षा से सम्बद्ध उच्च प्रौद्योगिकी के निर्यात पर लगे प्रतिबंध को हटाने और परमाणु आपूर्तिकर्ता देशों के समूह-एनएसजी सहित कई अन्य संगठनों में भारत की सदस्यता के दावे के समर्थन किए जाने का स्वागत किया।
ओबामा ने भारत के साथ अमेरिकी रिश्तों को असाधारण बताते हुए इन्हें भविष्य के लिए जरूरी बताया। उन्होंने कहा कि इस मनमोहन सिंह के साथ उनकी वार्ता के दौरान पाकिस्तान, पश्चिम एशिया और अफगानिस्तान पर चर्चा हुई। उन्होंने भारत की भूमिका क्षेत्रीय ही नहीं वरन वैश्विक स्तर पर भी महत्वपूर्ण हो चुकी है। उन्होंने अफगानिस्तान में भारत द्वारा दिए योगदान की भी सराहना की। उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका परमाणु अप्रसार की दिशा में भी मिलकर कार्य करेंगे।
इससे पहले वार्ता के लिए हैदराबाद हाउस पहुंचने से पहले ओबामा ने अपनी पत्नी मिशेल ओबामा के साथ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि राजघाट जाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। गांधी के बड़े प्रशंसक माने जाने वाले ओबामा ने मुम्बई में मणि भवन जाकर बापू से जुड़े इतिहास को जानने की कोशिश की थी। उस दौरान उन्होंने अतिथि पुस्तिका में लिखा, ''महात्मा गांधी सिर्फ भारत ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया के नायक हैं।''
राजघाट जाने से पहले ओबामा और मिशेल राष्ट्रपति भवन पहुंचे जहां उनका रस्मी स्वागत किया गया। ओबामा को 21 तोपों की सलामी दी गई। राष्ट्रपति भवन में सम्मान के बाद ओबामा ने वहां केंद्र सरकार के कई मंत्रियों व वरिष्ठ लोगों से मुलाकात की।
इस स्वागत के बाद ओबामा ने कहा कि मैं और मिशेल भारत में हुए स्वागत से अभिभूत हैं। हम इसके लिए भारत की जनता का आभार प्रकट करना चाहते हैं। मैं प्रधानमंत्री सिंह से बातचीत को लेकर उत्साहित हूं। हम व्यापार, निवेश और आतंकवाद के खिलाड़ लड़ाई सहित कई मसलों पर बातचीत करेंगे।

ओबामा और मिशेल शनिवार को मुम्बई पहुंचे थे। मुम्बई में कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के बाद वे रविवार दोपहर बाद दिल्ली पहुंचे। उनके सम्मान में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने रविवार रात भोज का आयोजन किया था। ओबामा दंपति रविवार शाम को हुमायूं का मकबरा भी गए थे।
ओबामा शाम के वक्त संसद को संबोधित करेंगे। इससे पहले होटल आईटीसी मौर्या में वह उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी, नेता प्रतिपक्ष सुषमा स्वराज और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से अलग-अलग मुलाकात करेंगे। अपने भारत दौरे की आखिरी कड़ी में वह सोमवार रात राष्ट्रपति भवन में आयोजित भोज में शिकरत करेंगे। इसके अगली सुबह वह इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता के लिए रवाना होंगे

No comments:

Post a Comment