Monday, 8 November 2010

आतंक के खिलाफ भाषण में पाकिस्‍तान का जिक्र नहीं

इससे पहले, ओबामा ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत और अमेरिका साथ-साथ हैं। ओबामा अपनी महत्वाकांक्षी यात्रा के तहत शनिवार को भारत पहुंचे। भारत यात्रा में अपने पहले पड़ाव मुंबई के ताज होटल पहुंचकर ओबामा ने कहा, 'होटल ताज में उनका आना आतंक के खिलाफ एक संदेश है। मुंबई हमलों के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा दी जाए।' हालांकि ओबामा ने अपने इस भाषण में पाकिस्‍तान का कहीं भी जिक्र नहीं किया।

ओबामा ने 26/11 के शिकार लोगों को श्रद्धांजलि दी और कहा कि वे भारत के प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के साथ मुलाकात के दौरान इस बात पर जोर देंगे कि भारत और अमेरिका आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में साझेदारी और बढ़े। अपनी पत्नी के साथ 26/11 की याद में बने मेमोरियल को देखने और विजिटर बुक पर दस्तखत करने के बाद ओबामा ने इस हमले में मारे गए लोगों के परिजनों और हमले का सामना करने वाले ताज होटल के स्टाफ को संबोधित किया।

अपने छह मिनट के भाषण में ओबामा ने कहा, 'मेरे भारत यात्रा ताज होटल से शुरू करने को लेकर काफी चर्चा हुई। जिन लोगों ने यह पूछा था कि क्या सबसे पहले ताज होटल आकर मैं कोई संदेश देना चाहता हूं। तो उनके लिए इसका जवाब है, हां। ओबामा ने कहा, हम 26/11 के हमले की तस्वीरों, ताज होटल से निकलती लपटों को कभी भी नहीं भूलेंगे। भारत और अमेरिका आज आतंकवाद के खिलाफ साथ-साथ काम कर रहे हैं। हमारे बीच सहयोग बढ़ रहा है ताकि हमारे लोग सुरक्षित रहें। मुंबई शहर भारत के लोगों के साहस और जूझने की क्षमता का प्रतीक बन गया है।'

No comments:

Post a Comment