Monday, 8 November 2010

राष्ट्रपति भवन में ओबामा, स्वागत से अभिभूत

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का सोमवार को राष्ट्रपति भवन में भव्य स्वागत किया गया है। इस मौके पर राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने उनकी अगवानी की।
राष्ट्रपति भवन पहुंचने पर ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल का भव्य स्वागत हुआ। राष्ट्रपति ओबामा को 21 तोपों की सलामी दी गई। गॉर्ड ऑफ ऑनर के बाद ओबामा ने केंद्र सरकार के कई मंत्रियों व वरिष्ठ लोगों से मुलाकात की।
इस स्वागत के बाद ओबामा ने कहा कि मैं और मिशेल भारत में मिले स्वागत से अभिभूत हैं। हम इसके लिए भारत की जनता का आभार प्रकट करना चाहते हैं। मैं प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से बातचीत को लेकर उत्साहित हूं। हम व्यापार, निवेश और आतंकवाद के खिलाड़ लड़ाई सहित कई मसलों पर बातचीत करेंगे।
ओबामा और मिशेल शनिवार को मुम्बई पहुंचे थे। मुम्बई में कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के बाद वे रविवार दोपहर बाद दिल्ली पहुंचे। उनके सम्मान में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने रविवार रात एक भोज का आयोजन किया था। ओबामा दंपति रविवार शाम हुमायूं का मकबरा भी गए थे।
अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि अमेरिका दोनों देशों के बीच विश्वसनीय साझेदारी को और मजबूत करने का इरादा रखता है जो 21वीं सदी की एक उल्लेखनीय भागीदारी होगी।
ओबामा ने कहा कि दोनों देशों में लोगों से लोगों के बीच असाधारण साझेदारी है और मैं उम्मीद करता हूं कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह तथा अन्य के साथ बातचीत में व्यापारिक और अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में द्विपक्षीय संबंधों तथा भविष्य में सुरक्षित अमेरिका और भारत के लिए आतंक रोधी उपायों में मजबूती मिलेगी।
ओबामा ने कहा कि अमेरिका और भारत न सिर्फ दोनों देशों बल्कि विश्व में स्थिरता और शांति के लिए अंतरराष्ट्रीय सिद्धांतों पर काम करेंगे।
ओबामा ने कहा कि वह और उनकी पत्नी शानदार आतिथ्य और अभिनंदन के लिए समूचे भारत के लोगों का धन्यवाद व्यक्त करते हैं। उन्होंने अमेरिका के लोगों की ओर से सम्मान एवं आभार व्यक्त किया।
राष्ट्रपति भवन से वह राजघाट जाकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। इसके बाद ओबामा प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाकात करेंगे और फिर दोनों एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करेंगे। अपने सम्मान में आयोजित भोज से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति भारतीय संसद को भी संबोधित करेंगे। इसके बाद वह इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता के लिए रवाना होंगे

No comments:

Post a Comment